राज्य

पाटन क्षेत्र में अर्जुना वृक्षों की संख्या लगभग 4 लाख 36 हजार है

कोसा फलों से 300 करोड़ रूपए के कोसा वस्त्र प्रतिवर्ष बनाये जाते हैं।

रायपुर (khabargali) पाटन क्षेत्र में नैसर्गिक कोसा उत्पादन की असीम संभावनाएं हैं। पाटन क्षेत्र में अर्जुना वृक्षों की संख्या लगभग 4 लाख 36 हजार है। इन बड़े-बड़े अर्जुना वृ़क्षों में कोसा पालन करने के बजाय नैसर्गिक रूप से कोसा उत्पादन के लिए अनुकूल हैं। पाटन क्षेत्र में ग्रामोद्योग विभाग के अंतर्गत कोसा संग्रहण एवं कोसा वस्त्र निर्माण से लोगो को अतिरिक्त रोजगार प्राप्त होता है।