भारतीय योग संस्थान,रायपुर ने मनाया 53वां योग दिवस

yoga day
yoga day 2

भारतीय योग संस्थान,रायपुर का अभिनव आयोजन

रायपुर (khabargali ) भारतीय योग संस्थान प्रति वर्ष 2 अक्टुबर गांधी जयंती के दिन योग दिवस पूरे भारत वर्ष के साथ अन्य देशों में भी मनाया जाता है , हर वर्ष की तरह इस वर्ष रायपुर में भारतीय योग संस्थान,रायपुर द्वारा केनाल रोड स्थित कटोरा तालाब पार्क मे 53 वां योग दिवस सुबह 6.00 से 8.00 बजे तक बडे ही धुमधाम से मनाया गया । इस भव्य व गरिमामयी कार्यक्रम में 400 से 450 योग साधकों ने मिलकर योग साधना के साथ प्रेरणादायक संदेश के साथ नाटक मंचन अनेकता में एकता का संदेश दिया।  साथ ही संगीत के साथ योग नृत्य की सुन्दर प्रस्तुति दी।स्मार्ट सिटी रायपुर के स्वच्छता अभ्रियान पर भी प्रभावी नाटक का मंचन किया गया ।

भारतीय योग संस्थान के 35 केन्द्रों में भी मना 53वां योग दिवस

उल्लेखनीय है कि रायपुर के विभिन्न पार्कों, मन्दिर प्रांगण एवं कालोनियो में प्रातः कालीन एवं सांन्ध्यकालीन भारतीय योग संस्थान के 35 केन्द्र  निशुल्क संचालित होते हैं, जिसके समस्त साधकों ने मिलकर इस योग दिवस पर सामूहिक साधना कर योग हेतु प्रेरणादायक संदेश दिया । कार्यक्रम  का मंच संचालन सूर्दशना ,रिया, नीलम एवं तृप्ती ने मिलकर किया। कायर्क्रम का शुभारंभ दीप प्रज्वलन  एवं सरस्वती वंदना से प्रारभ हुआ।  भैरव सोसायटी ,दावडा कालोनी योग साधना केन्द्र ने माहात्मा गांधी की स्वच्छ भारत की परिकल्पना पर एक सुन्दर प्रस्तुति  दी। शिव साई हनुमान मंदिर, गायत्री नगर केंद्र के साधकों ने धर्मनिरपेक्षता पर आधारित एक सुन्दर मुर्तिकार नाटक मंचन किया। टैगोर नगर केन्द्र द्वारा गीत के माध्यम वार्मअप सुक्ष्म क्रिया का अभ्यास कराया। भक्ति संगीत के माध्यम से योग नृत्य कृष्णानगर गुढियारी केन्द्र द्वारा प्रस्तुति की गई । आसनों की शुरूआत  राजेश डागा जी  ओम की ध्वनि व  गायत्री मंत्र से की । वक्षासन , अर्धचन्द्रासन, कोणासन , वक्रासन,  उष्ट्रासन,  सिंहासन आदि आसनों का अभ्यास लता ,सरिता, ज्योति, पुजा प्रज्ञा, शलिनी ने मिलकर अलग -अलग अभ्यास कराया। इसके पश्चात हास्यासन  का अभ्यास  के आर साहू ने करा उसके अद्भूत लाभ से अवगत कराया। स्थुल शरीर के अभ्यास के साथ मानसिक  संतुलन एवं मानसिक विकार को दूर करने का सुन्दर अभ्यास शवासन योग गुरू मुकेश सोनी ने कराया । आसन प्रदर्शन सविता और कात्यायनी ने की । प्राणायम कपालभंति एवं भ्रामरी रिया एवं वंदना ने कराया। गीतों पर आसन प्रदर्शन गुढियारी के साधकों ने प्रस्तुति दी।  आभार प्रदर्शन वंदना आहुजा ने किया।  राष्ट्रगान के साथ कार्यक्रम का समापन किया गया।  कार्यक्रम को सफल बनाने मे मुख्य रूप से महेश रूपरेला ,अरूणा प्रजापति ,लक्ष्मी मूर्ति , राजेश डागा , राजेश अग्रवाल , मुकेश सोनी , पवन सूद , सोनिया , कांति लुनिया,  पुनम गेही सरिता, वनिता , अर्चना,  प्रभा,  सिन्टु ,कविता,  गीतांजली , धर्मेन्द्र , काशीराम , जयप्रकाश , अक्षय सूद , प्रीति,  हर्षिता आदि का महत्वपूर्ण योगदान रहा।
                                                                                

Tags