मोना स्कूल के बच्चों ने राजस्थान में दिखाई प्रतिभा, शास्त्रीय गायन और कत्थक में जीते कई ईनाम

Mona school
मोना स्कूलMona schoolMona school

सारंगढ (khabargali) मोना स्कूल सारंगढ़ के बच्चों ने उदयपुर, राजस्थान में आयोजित घूमर फेस्टिवल में पार्टिसिपेट कर कई प्राइज़ेस अपने नाम किये। मोना स्कूल के इन प्रतिभागियों ने शास्त्रीय गायन और शास्त्रीय नृत्य की विविध विधाओं में अपनी प्रतिभा का प्रदर्शन किया। राजस्थान के उदयपुर में आयोजित इस कार्यक्रम में देश-विदेश के पाँच सौ से अधिक प्रतिभागियों ने हिस्सा लिया। तीन दिन तक चलने वाले इस इंटरनेशनल मल्टीलिंगुअल प्ले, डांस एंड म्यूज़िक कांटेस्ट एंड फेस्टिवल में छत्तीसगढ़ की तीन टीमों ने प्ले, शास्त्रीय गायन, कत्थक, भरतनाट्यम एवं कुचिपुड़ी की विधाओं में हिस्सा लेते हुए कई ईनाम अपने नाम किये। मोना स्कूल की इस टीम में कत्थक इन्स्ट्रक्टर श्रीमती तोषी गुप्ता के साथ सार्थक केशरवानी, शार्वी केशरवानी, प्राची देवांगन, माही केशरवानी, डिम्पी पिपरिया, और सुहानी स्वर्णकार शामिल थे। उपरोक्त घूमर फेस्टिवल में सार्थक केशरवानी ने एकल शास्त्रीय गायन में प्रथम स्थान, तथा एकल उपशास्त्रीय गायन में प्रथम स्थान प्राप्त किया वहीं एकल देशभक्ति गीत प्रतियोगिता में बेस्ट परफॉर्मर ऑफ द फेस्टिवल अवार्ड प्राप्त किया । शास्त्रीय नृत्य कत्थक की श्रेणी में शार्वी केशरवानी को बेस्ट जज़ेस चॉइस अवार्ड प्रदान किया गया वहीं उपशास्त्रीय केटेगरी में शार्वी ने प्रथम स्थान प्राप्त किया। सुहानी स्वर्णकार ने शास्त्रीय नृत्य कत्थक में द्वितीय स्थान प्राप्त किया। माही केशरवानी ने उपशास्त्रीय केटेगरी में तृतीय स्थान प्राप्त किया , वहीं डिम्पी पिपरिया को शास्त्रीय नृत्य कत्थक में सेक्रेटरी चॉइस अवार्ड प्राप्त हुआ। प्राची देवांगन ने शास्त्रीय नृत्य कत्थक में द्वितीय स्थान प्राप्त किया वहीं वेस्टर्न डांस के केटेगरी में प्रथम स्थान प्राप्त करते हुए विजेता रही।

नृत्य गुरु श्रीमती तोषी गुप्ता को मिला नृत्य कादम्बरी सम्मान

Mona school

शास्त्रीय नृत्य में छात्राओं की इस अभूतपूर्व उपलब्धि के प्राप्त करने पर कत्थक इन्स्ट्रक्टर श्रीमती तोषी गुप्ता को नृत्य कादम्बरी अवार्ड से सम्मानित किया गया।ज्ञातव्य हो कि इससे पूर्व भी गत माह जुलाई में श्रीमती तोषी गुप्ता के नेतृत्व में मोना स्कूल के बच्चों की टीम ने गोवा में बेहतरीन प्रस्तुति देते हुए शास्त्रीय गायन और शास्त्रीय नृत्य कत्थक में कई इनाम प्राप्त किया था। अब राजस्थान में मोना स्कूल के छः छात्र-छात्राओं ने पुनः शास्त्रीय गायन और कत्थक में कुल ग्यारह पुरस्कार प्राप्त करते हुए राष्ट्रीय स्तर पर स्कूल का मान बढ़ाया। मोना स्कूल की इस अभूतपूर्व उपलब्धि के बारे में मोना ग्रुप ऑफ एजुकेशन के फाउंडर एवं प्रिंसिपल मोना स्कूल श्री रितेश केशरवानी ने बताया कि उपरोक्त छात्र-छात्राओं में सार्थक केशरवानी विगत चार वर्षों से , शार्वी केशरवानी विगत 3 वर्षों से तथा अन्य बच्चे विगत 2 वर्षों से शास्त्रीय गायन एवं कत्थक का विधिवत प्रशिक्षण प्राप्त कर रहे हैं।श्री रितेश केशरवानी ने बच्चों की इस सफलता पर बच्चों एवं उनके माता-पिता को बधाई देते हुए उनके उज्जवल भविष्य की कामना की।

Category