ज़कात फाउंडेशन की ओर से समाज के 40 होनहार बच्चो का सम्मान किया , 30 लाख रुपए की छात्रवृत्ति 750 बच्चो को प्रदान की गई

जकात फाउंडेशन
जकात

रायपुर (khabargali) छत्तीसगढ़ ज़कात फाउंडेशन की जानिब से हर साल की तरह इस साल भी मुस्लिम समाज के होनहार बच्चो का इस्तेकबाल प्रोग्राम शहीद इस्मरक में सम्पन हुआ। इस आयोजन में जनाब मोहम्मद शाहिद साहब(IFS),जनाब नवेद शुजाहुद्दीन(IFS), जनाब एम डब्लू अंसारी (IPS)रिटायर्ड डी जी,जनाब फ़ज़ल संजरी साहब,जनाब शोइएब खान साहब(DSP)अतिथि के रूप में मौजूद थे. नावेद साहब ने तालीम को लेकर समाज के बच्चो को सजग रह कर पढ़ने की ज़रूरत पे बल दिया,उन्होंने अपनी भाषण में समाज के बच्चो के हौसले अफ़ज़ाई किय. शाहिद साहब ने प्रायोगिक परीक्षा के संबंध में स्टूडेंट्स को अवगत कराया. एम डब्लू अंसारी साहब ने फिर से समाज से अपील किया कि भले 1 रोटी काम खाओ लेकिन अपने बच्चो को अच्छी तालीम ज़रूर दो.

इस आयोजन में समाज के 40 होनहार बच्चो का सम्मान किया गया,ओर करीब 30 लाख रुपए की छात्रवृत्ति 750 बच्चो को प्रदान की गई.

जकात

इनका हुआ इस्तकबाल 

10th: स्व आइ एच खान जी की स्मृति में कक्षा दसवीं में Mr Md Suhail Memon Loya मोहम्मद सुहेल मेमन लोया 98.5% को

12th: स्व मोहम्मद माजीद जी की स्मृति में कक्षा १२ में Ms Anjleena Shakeba 92% के लिए अंजलिना शाकेबा को

Graduate:  स्व:मोइनुद्दीन फ़ारूक़ी जी की स्मृति में Mr Mohammed Shahbaz मोहम्मद शहबाज़ बी फ़ार्मा में ८० % को

Post Graduate : Ms Nasira Gous स्व हाफ़िज़ मोहम्मद अनवर खान जी की स्मृति में कु . नसिरा गॉस को एम ए अंग्रेज़ी में

Professional : Syed Kazmi AlI स्व अब्दुल कूदुस सिद्दीक़ी जी की स्मृति में सैय्यद काज़ीम अली को

एंजिनीरिंग : 83% स्व जावेद बारी जी की स्मृति में सरकारी जॉब की परीक्षा में टॉप करने वाली इशरत परवीन को और अबुल कलाम आज़ाद साहब की स्मृति में व्यापम परीक्षा पास कर पटवारी बने सद्दाम खान को दिया गया

ज़कातजकात

छत्तीसगढ़ ज़कात फाउंडेसन के प्रोग्राम का संचालन जनाब सैय्यद अकील साहब ने किया. जनाब इनमुल्लाह साहब ने 5 सालो का ज़कात फाउंडेशन के पूरे कार्यो का लेख जोखा पेश किया. कार्यक्रम का समापन मखमूर इक़बाल खान ने किया.प्रोग्राम में प्रमुख रूप से इरफान बुखारी, अशफ़ाक़ अमजद,हाकिम अंसारी,मोहम्मद इमरान दुर्ग,बिलाल आबिद,आबिद सूर्या, असद खान,जावेद नूर,मोहिद खान,शबाब कुरेशी,अबरार खान साहब,हासिम खान साहब,गौरी खान साहब और ज़कात फाउंडेशन के काफी सदस्य मौजूद थे।