राष्ट्रपिता महात्मा गांधी जी की 150वीं जयंती के अवसर पर 02 अक्टूबर से खादी वस्त्रों की खरीदी पर 30 प्रतिशत छूट: गुरू रूद्रकुमार

Guru rudra kumar
Guru rudra kumar

ग्रामोद्योग विभाग की  6 घंटे की राज्यस्तरीय समीक्षा बैठक

रायपुर (khabargali)ग्रामोद्योग मंत्री गुरू रूद्र कुमार ने नीर भवन में कल 07 जून को ग्रामोद्योग विभाग के राज्य स्तरीय समीक्षा बैठक ली। बैठक में मंत्री श्री गुरू ने राष्ट्रपिता महात्मा गांधी जी की 150 वीं जयंती के अवसर पर 02 अक्टूबर को खादी वस्त्र की बिक्री पर अब आम ग्राहको को तीस प्रतिशत छूट दिये जाने की घोषणा की। उल्लेखनीय है कि गांधी जयंती के अवसर पर पूर्व में खादी वस्त्रों खरीदी पर ग्राहकों को 25 प्रतिशत की छूट दी जाती थी।छह घंटे की मैराथन बैठक में ग्रामोद्योग विभाग के पांच विभिन्न घटक की जिलेवार कार्यो की समीक्षा हुई।

सहायक संचालक दुर्ग को निलंबित करने के निर्देश

बैठक में मंत्री गुरू रूद्र ने हाथकरघा प्रभाग के दुर्ग जिले के सहायक संचालक को कार्यो में लापरवाही बरतने के कारण निलंबित करने के निर्देश दिये। बैठक में हाथकरघा प्रभाग में प्रशिक्षण, हाथकरघा गतिविधियों, बुनकर समितियों एवं राज्य में हाथकरघा के राष्ट्रीय व अंतराष्ट्रीय स्तर पर विकास हेतु किये जा रहे नवाचार की जानकारी प्रस्तुत की जानी थी। दुर्ग जिले के सहायक संचालक द्वारा दी गई प्रशिक्षण संबंधी जानकारी का मंत्री श्री गुरू रूद्र ने बैठक के दौरान ही उसका भौतिक परीक्षण करने को कहा। भौतिक परीक्षण में उन्होने पाया कि प्राप्त जानकारी और वर्तमान स्थिति मे भिन्नता पाई गई, इस पर उन्होने अप्रसन्नता जताते हुये तत्काल प्रभाव से सहायक संचालक को निलबिंत करने के निर्देश दिये साथ ही जिलों में चल रही गतिविधियों का भी भौतिक परीक्षण करने के निर्देश एवं कार्यशैली का भी अवलोकन करने के निर्देश समस्त अधिकारियों को दिए।

बैठक की शुरूआत रेशम प्रभाग से हुई

बैठक में अधिकारियो द्वारा अनुपस्थित अधिकारियों, ककून संग्रहण, संग्रहण से जुड़े परिवार, कार्यरत रोलींग मशीन, स्पीनींग मशीन, धागा कारक हितग्राहिेयों टसर अण्डे का क्रय, धागा आयात, मलबरी रेशम -बिज केन्द्र अनुसंधान केन्द्रों के स्थल, संचालित ककून यार्न- बैंक, कोसाफलो का उत्पादन और उनमें चल रही रोजगार अवसर के लिये कार्य योजना की जिलेवार जानकारी दी गई। इस जानकारी के आधार पर सचिव श्री हेमंत पहारे ने रेशम प्रभाग में रोजगार अवसर और उत्पादन को दो गुना करने, नये क्षेत्र और नये रोजगार उन सभी स्थलों पर जहां कार्य नही हुये है या उसकी जानकारी नहीं है उन पर कार्यवाही करने के सख्त निर्देश दिये।

रोजगार बढ़ाने और नवाचार के निर्देश दिए

मंत्री श्री गुरू रूद्र ने कार्य योजना में समूह, मितानीन और अन्य समितियों को नये सिरे से नये लोगों को जोड़ने, नये लोगों चिन्हांकित कर रोजगार की उपलब्धता को बढ़ाने नवाचार करने के निर्देश दिये। बैठक में हस्तशिल्प विकास बोर्ड द्वारा परम्परागत प्रचलित शिल्प में योग्य युवक-युवतियों को प्रशिक्षण प्रदान कर रोजगारोंमुखी बनाना निजी उद्यमियों को अधिकाधिक पूंजी निवेश कर हस्तशिल्प के क्षेत्र में रोजगार सृजन एवं विपणन सुविधा हेतु प्रेरित करने के लिये आवश्यक कार्य योजना बनाने के निर्देश दिये।

प्रर्दशनी प्रचार-प्रसार योजनांतर्गत प्रर्दशनियों, एवं प्रर्दशनी वार व्यय की जानकारी, शबरी एम्पोरियम में क्रय-विक्रय, शिल्पी बेसलाईन सर्वेक्षण, समस्त विकास केन्द्र- जिला कार्यालयोें द्वारा किये गये कार्यों एवं विशेष उपलब्धियों की जानकारी की प्रस्तुत की गयी। मंत्री श्री गुरू रूद्र ने व्यापक रूप से प्रचार-प्रसार के लिये राज्य के सभी जिलों में करने तथा गिरोधपुरी, डोंगरगढ़ और बस्तर दशहरा में विशेष रूप से प्रर्दशनी का आयोजन करने की बात कही साथ ही देश के अन्य राज्यो में भी प्रर्दशनी का आयोजन करने के निर्देश दिये।

छत्तीसगढ़ हाट बाजार में नवीन भवन बनेगा

रायपुर पंडरी स्थित छत्तीसगढ़ हाट बाजार में नवीन भवन निर्माण के लिये प्रस्ताव बनाकर विभाग को प्रस्तुत करने के निर्देश दिये। नवीन भवन के निर्माण होने से यहां पर वर्ष भर दूसरे राज्योो के प्रर्दशनियों का आयोजन किया जा सकेगा। जिससे विभाग को अतिरिक्त आय के साधन उपलब्ध होंगे। छत्तीसगढ़ खादी तथा ग्रामोद्योग प्रभाग द्वारा प्रधानमंत्री रोजगार सृजन कार्यक्रम, मुख्यमंत्री रोजगार सृजन कार्यक्रम, विक्रय भंडारों की खरीदी बिक्री, तकनिकी प्रशिक्षण एवं प्रशिक्षणार्थियों की वर्तमान स्थिति, शासकीय विभागों को विभाग के द्वारा सामग्री आपूर्ति, राशि और विभाग की जानकारी तथा ग्रामोद्योग के उत्तरोत्तर विकास हेतु प्रयास व नवीन कार्य योजना की जानकारी बैठक में दी गई।

खादीग्राम द्वारा ग्रीन खादी के माध्यम से 1500 लोगो को रोजगार उपलब्ध कराया जा रहा है, इसके अंतर्गत 15000 हितग्राहियो को रोजगार उपलब्ध कराने का लक्ष्य निर्धारित किया गया है। मंत्री गुरू रूद्र ने ग्रामोद्याोग विभाग के सभी घटक के अधिकारियों को अपनी व्यवस्था सुधारने आजादी के बाद भी अभी तक कार्यशैली वैसी ही बनी हुई है इस पर नवाचार करने की आवश्यकता है। जिलों में चल रही विभागीय गतिविधियों का भौतिक परीक्षण कर विभिन्न उन बिन्दुओं पर आगामी बैठक में संपूर्ण जानकारी के साथ उपस्थित रहने के कड़े निर्देश दिये। बैठक में आधी-अधूरी एवं अस्पष्ट जानकारी देने की स्थिति में संबंधित अधिकारी कार्यवाही के लिये स्वंय जिम्मेदार होंगे। नयी कार्ययोजना बनाकर सभी घटक उत्पादन बढ़ाकर रोजगार के नए अवसर उपलब्ध कराएं। साथ ही वित्तीय प्रबंधन के लिये नयी रूपरेखा तैयार करने के सख्त निर्देश दिये।

सचिव श्री हेमन्त पहारे ने कहा कि ग्रामोद्योग के सभी घटक अन्य विभागों एवं घटक आपस में सामन्जस्य बनाकर कार्य करे। जिस स्तर पर निराकरण हो उसे सुनिश्चित कर शासन स्तर पर प्रेषित करें। उन्होंने अधिकारियों को संभागवार और संचालनालय स्तर पर प्रतिमाह समीक्षा करने के आवश्यक निर्देश दिए। इस अवसर पर संचालक ग्रामोद्योग श्री बिपिन कुमार मांझी, खादीग्राम के प्रबंध संचालक श्री आलोक अवस्थी, प्रबंध संचालक माटीकला बोर्ड के श्री सुधाकर खलखो, हस्तशिल्प बोर्ड के प्रबंध संचालक श्री जे.एल. मरावी तथा हस्तशिल्प बोर्ड के श्री सुनील अवस्थी सहित अन्य अधिकारी-कर्मचारी उपस्थित थे। 

Category