भारत

नयी दिल्ली (khabargali) सरकार के लिए घाटे का सौदा बन चुकी एयर इंडिया 67 सालों के बाद अब फिर से टाटा की झोली में आने वाली है। एयर इंडिया के लिए टाटा कंपनी सबसे ज्यादा बोली लगाने वाली बनकर उभरी है। नमक से लेकर सॉफ्टवेयर तक सब कुछ बनाने वाले टाटा ग्रुप के हाथ में अब एयर इंडिया की कमान भी पहुंच चुकी है। गौरतलब है कि एयर इंडिया की बुनियाद जेआरडी टाटा ने 1932 में रखी थी। तब से लेकर इस कंपनी के खाते में तमाम उपलब्धियां दर्ज हैं। यह एशिया की पहली ऐसी एयरलाइन है जिसने सबसे पहले अपने बेड़े में जेट एयरक्राफ्ट को जोड़ा था। 1953 में इसका राष्ट्रीयकरण हो